असल मे कौन कौन से नेता होते हैं टिकट के दावेदार

सामाजिक सरोकार करो और टिकिट की मांग करो, फिर भी टिकट ना मिले, तो बागी उम्मीदवार बनो, इसी में नेतायों का राजनैतिक भविष्य छुपा हुआ है।अभी हमारे खबरिया भैरूजी जी ने पूरे राजस्थान का दौरा किया और टिकट की दावेदारी जता रहे, BJP और कांग्रेस के नेताओं की पड़ताल की तो देखो क्या निकल कर आया

1.एक टैंकर पानी गर्मीयों में कालोनी में ले जाकर बांटा और टिकिट दौड़ में शामिल होकर बन सकते हो दावेदार
2.पक्षियों को परिण्डें बांधे और टिकिट दौड़ मे शामिल।
3.बरसात में पौधे लगाये ,पाँच आदमी इकट्ठा किये फोटो ली, और फिर कटिंग अखबार से, बनाया Resume और माँगने पहुँच गये टिकट।
4.पद ,दंगल मे पहुंचे भीड़ मे फोटो ली और वो ही सब हैं असली दावेदार
5.क्रिकेट का उद्घाटन कुछ भीड़ संघ फोटो और….. ।
6.पद यात्रा को झंडी दिखाने से भी दावेदारी प्रबल।
7.किसी की शोक सभा में शामिल होना, रास्ते मे खिलखिलाना, और अखबार मे शोक जाहिर ।
टिकट के दावेदार।।

और किसी भी दावेदार से पूछो तो मेरा तो पक्का है वो भी 100%, जैसे हर नेता की जेब मे पईसा नहीं, टिकट रखे हो।

इससे स्थापित नेताओं के पसीने छूट रहे है।
खैर देखते हैं किसकी समाज सेवा काम आती है। चारों तरफ टिकट के दावेदार है साहब
हर एक देख रहा है MLA का ख्आब ।
दीवाली तक हो सकती है तस्वीर साफ
गलती हुई गर मुझसे तो कर देना माफ ।।
जय चुनाव जय लोकतंत्र
हरियाली मतलब खुशहाली कोई भी बने MLA
क्षेत्र इस तरह हराभरा हो।

Facebook Comments