0

पूर्वी राजस्थान में सूखे के हालात

–पूर्वी राजस्थान में अकाल ,सूखे के हालात । — एक जमाने में जहां हरियाली थी, भारी बरसात होती थी। -धान और गन्ने के खेत लहलहाते थे, एक -एक बूँद के लिए तरस रहे हैं.....

0

प्रेस की आज़ादी जनजातियों और दलितों के ख़िलाफ़ ही क्यूँ..?

प्रेस की आज़ादी जनजातियों और दलितों के ख़िलाफ़ ही क्यूँ……? हुकुमतों,भ्रष्टाचारियों,कालाबाज़ारियों,सफ़ेदपोशों, बलात्कारियों,घोटालेबाज़ों के ख़िलाफ़ ये आज़ादी ग़ुलामी में क्यूँ बदल जाती है। अख़बार आपका है,ख़बरदार आपका है,रसूखदार आपके है, तथाकथित ठेकेदार आपके है….और विचार...

0

19 जनवरी को दिल्ली में होगा देश का प्रथम भीम मार्च, ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुँचे और अभी इसे शेयर करें

राष्ट्रपति को भी किया सूचित, भारी संख्या में भाग लेने की अपील      दिल्ली के समस्त SC/ ST शिक्षकों की लगभग 35 साल से कार्यरत एकमात्र यूनियन ( संयुक्त अनुसूचित जाति/ जनजाति शिक्षक...

0

युवा नेता धुंधी_मीणा के 32 जन्मदिन पर युवाओं में जशन का माहौल, बधाइयों का सिलसिला हैं जारी

32 वे जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई #धुंधी भाईसाहब लालसोट विधायक माननीय डॉ #किरोडीलाल मीणा के  वरिष्ठ युवा कार्यकर्ता,  युवा चेहरे  और भविष्य में  समाज की राजनीति  में  अपनी पहचान बनाने के लिए  कदम...

0

हम जो दूसरो को देंगे वही लोटकर आयेगा चाहे वो इज्जत ,सम्मान हो या फिर धोखा

दोस्तो एक बार जरूर पड़े और अच्छी लगे तो #share जरूर करे … एक गाँव मे एक किसान रहता था जो ढूध से दही और मक्खन बनाकर बेचने का काम करता था एक दिन...

0

दाल में भैरण्ट करंट- साहित्यकार विजय मीणा का शानदार लेख

बात 1983 की  है जब मै पहली बार जयपुर रहने लगा । उन दिंनो बारात 2-3 दिन तक रुकती थी । ऐसी ही एक शादी में हम ( मैं और मेरे एक कजिन) हमारे...

0

आदिवासी ‘जयपाल सिंह मुंडा’

जयपाल सिंह मुण्डा (3 जनवरी,1903) ..🌿🌴 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ जब भी आरक्षण का जिक्र होता है, हम भीमराव अम्बेडकर का ही जिक्र करके ही ठहर जाते है, जिन्होने दलित समाज के उत्थान के लिए आरक्षण की...

0

भारत की पहली शिक्षिका महिला

सावित्रीबाई ज्योतिराव फुले (3 जनवरी 1831 – 10 मार्च 1897) भारत की प्रथम महिला शिक्षिका, समाज सुधारिका एवं मराठी कवयित्री थीं। उन्होंने अपने पति ज्योतिराव गोविंदराव फुले के साथ मिलकर स्त्रियों के अधिकारों एवं...

0

ग्राम पंचायत की जिम्मेवारी, उसके अधिकार व कार्य @pawan57

भारत में ग्राम पंचायत भारतीय पंचायती राज सिस्टम के अनुसार, भारत के किसी भी गाँव और शहर में ग्राम पंचायत अपने आप में एक लोकल गवर्नमेंट का काम करती है! एक ग्राम पंचायत का...

0

शिक्षा का महत्व

सभी दोस्तों से मेरा विनम्र निवेदन है कि जब कभी आप अपने गांव  जाएं और आप फ्री हैं जैसे कि आप सरकारी टीचर या प्राइवेट टीचर या किसी और क्षेत्र में जॉब करते हैं...