मीना सीमला के बलजीत संवार रहे है अनाथ बच्चो का भविष्य Star Smile के साथ

नमस्कार दोस्तो-: मेरा नाम बलजीत मीणा गाँव मीना सीमला मेहंदीपुर बालाजी है! मै आपका परिचय उन बच्चो से कराने जा रहा हू जिनके लिए मै पिछले एक साल से कार्य कर रहा हू!

ये बच्चे एक ऐसे माहौल मे रहते थे! पुथपात इनका आशियाना !भिक्षावृति करना,कचरा बिनना !बहुत तकलीफ होती इन्हे देख कर ! बचपन जैसे नर्क बना हो !मेरे एक छोटेसे प्रयास ने कितना कुछ बदलाव किया है यह आप देख सकते है!मेरा प्रयास इनके सम्पूर्ण परिवर्तन का रहा है ओर कोशिश जारी है ! दोस्तो मेरी पोस्ट का उदेश्य यह है की कही दुर आप किसी बच्चे के भविष्य निर्माता बन आगे आये ओर किसी एक बच्चे का जीवन सुधर जाये!यह ही देश प्रेम है यही भक्ति बन जाये!तो सोचो कितना कुछ हो सकता है!मेरे पास सिर्फ इन बच्चो की ताकत है जो इन के लिए कुछ कर पा रहा हू अन्यथा एक छोटी सी दुकान चलाने वाले के लिए यह सम्भव कहा ये सब अपने खर्चे पर कर रहा हू! इन 60 बच्चो मे से 20 का एडमिशन राज इन्टरनेशनल पब्लिक स्कूल बालाजी अंग्रेजी माध्यम मे है 2लाख फिस ओर बाकि को खुद रोज 5 घन्टे का समय दे कर पढाता हू! मेरा शिक्षा के क्षैत्र मे ज्यादा अनुभव भी नही है!आगे किस तरह इस कार्य ओर आगे बढ़ाया जाये आप सलाह दे!! कुछ गलत लिखा हो तो क्षमा करे!अच्छा लगे तो आशिर्वाद जरूर दे

बहुत खुशी हुई “जब स्टार स्माइल”के बच्चो के लिए सर्दी से बचने के लिए कम्बल वितरित किये!यह तोहफ़ा हमारे दोस्त सुभाष जी कंसल ,व परिवार(हापुड) कि ओर से भेजा गया!मै तहेदिल से सुभाष जी,अवनिस जी ,शोभित कंसल,प्रगति कंसलव सभी परिवार को हार्दिक बधाई व शुभकामनाए देता हू!आप इन बच्चो का जिस तरह से ख्याल रखते है”उसी तरह से प्रकृति आपको हर खुशी दे!एक बार पुनः धन्यवाद!
स्टार स्माइल

-आज बहुत खुशी हुई “जब स्टार स्माइल”के बच्चो के लिए सर्दी से बचने के लिए कम्बल वितरित किये!

 

दोस्तो जीवन हर किसी के लिए एक अपनी ही पहेली है हर कोई अपने तरिके से इस पहेली को हल करने मे लगा है सब के अपने अपने सूत्र है सब का अपना अपना नजरिया है!कोई जीवन भर राह तलाशता रहता है? ओर कई राह पकड़कर रहस्य को समझते हुए आगे बढ़ते रहते है !इस संदर्भ मे मेरा नजरिया सिर्फ एक ही जगह टिका है !कि जीतना हो सके अपने आप को मददगार बनाये !जब हम किसी कि मदद करते है तब हमारे अन्दर एक अद्भुत उर्जा का प्रवाह हो रहा होता है ओर जीवन मे यही उर्जा सबसे जरूरी है !!इस अनुभव को सायद लिख पाना बहुत मुश्किल है !पर आप इसे अपने आप मे अनुभव कर सकते है!

ज्यादा नही आप सिर्फ पूर्ण विवेक से सोचे!कि आप बहुत से लोगो कि मदद कर रहे है!आप बहुत खुशी से उन्हे गले लगा रहे है!इस के बाद आप निश्चित ही अपने आप को अलग सा पाये गे!जरूरी नही है आप मेरे जैसा सोचे !पर अपने जैसा तो जरूर सोचे! हम सब मिलकर निश्चितरूप रूप से बहुत कुछ नया कर सकते है!!
स्टार स्माइल

शेयर करे
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रातिक्रिया दे